चेन्नई से बाहर जा कर खेलना मुश्किल था: स्टीफन फ्लेमिंग

बीबीसीखबर, क्रिकेटUpdated 29-05-2018
चेन्नई

 महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई ने रविवार को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए फाइनल मैच में सनराइजर्स हैदराबाद को आठ विकेट से मात देकर तीसरी बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया. चेन्नई को अपने घरेलू मैच पुणे स्थानांतरित करने पड़े थे क्योंकि कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच चल रहे कावेरी नदी के जल वितरण विवाद के कारण लोगों ने वहां प्रदर्शन करना शुरू कर दिया था और आईपीएल मैचों का विरोध किया था.

फ्लेमिंग ने यहां सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा, "हमने जो रणनीति बनाई थी वो चेन्नई की परिस्थतियों को देखकर बनाई थीं, लेकिन इस तरह की चीजें हमारे हाथ में नहीं हैं." न्यूजीलैंड टीम के पूर्व कप्तान ने कहा, "चेन्नई से बाहर जाना मुश्किल फैसला था. हम पुणे की स्थिति से वाकिफ थे. हमें हालांकि अपने खेल के तरीके में बदलाव करने पड़े." विवाद के कारण चेन्नई में सिर्फ पहला मैच की मुमकिन हो सका था इसके बाद के सारे घरेलू मैच चेन्नई ने पुणे में खेले थे.

फ्लेमिंग ने कहा, "हम चेन्नई की परिस्थतियों को जानते थे. अनुभव ने हमारी मदद की. यह बड़ा बदलाव था लेकिन हमें हर हाल में खेलना ही था."

चेन्नई ने फाइनल में शेन वाटसन की 57 गेंदों में खेली गई 117 रनों की पारी के दम पर हैदराबाद द्वारा रखे गए 179 रनों के लक्ष्य को दो विकेट खोकर 18.3 ओवरों में हासिल कर लिया था.

वाटसन की तारीफ करते हुए फ्लेमिंग ने कहा, "वाटसन ने जो किया वह शानदार था. हम उनके हमारे साथ भविष्य पर चर्चा कर रहे हैं. हम उन्हें अपनी टीम में चाहते हैं."कोच ने कहा, "सलामी बल्लेबाजी करना और कुछ ओवर गेंदबाजी करना, वह शानदार पेशेवर खिलाड़ी हैं. वह अपना ख्याल भी अच्छे से रखते हैं."

 

Follow Us