राष्ट्र की एकता और अखंडता के लिए मिलकर करें कार्य: कौशिक

बीबीसीखबर, ऋषिकेशUpdated 30-05-2018
राष्ट्र
शहारी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि राष्ट्र की एकता, अखंडता और समृद्धि के लिये सभी को मिलकर कार्य करने की जरूरत है। उन्होंने पर्यावरण संरक्षण के लिए आम लोगों को भागीदारी निभाने का आह्वान किया। 
मंगलवार को परमार्थ निकेतन में आयोजित पर्यावरण संरक्षण एवं मां गंगा को समर्पित श्री राम कथा में शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने शिरकत की। उन्होंने कहा कि राष्ट्र की एकता, अखंडता और समृद्धि के लिये मिलकर कार्य करने की जरूरत है। उन्होने पर्यावरण संरक्षण के लिये स्वामी चिदांनद सरस्वती महाराज द्वारा चलाये जा रहे अभियान में सहयोग करने का आह्वान किया। उन्होेंने कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति कम से कम एक पौधा लगाने का संकल्प अवश्य ले। 
स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक से ऋषिकेश और हरिद्वार के सौन्दर्यीकरण, गंगा तटों की स्वच्छता एवं तटों के दोनों ओर पौधे का रोपण के विषय में चर्चा की। स्वामी चिदानंद ने कहा कि गंगा के तटों पर जैविक और अजैविक कूड़ादान लगाये जाएं, जिससे गंगा में प्रदूषण को कम किया जा सके। जीवा की अन्तर्राष्ट्रीय महासचिव साध्वी भवगती सरस्वती ने कहा कि उत्तराखण्ड की धरती स्वर्ग से कम नहीं है। 

कथावाचक मुरलीधर महाराज ने कहा कि साधना की सार्थकता के लिये श्रेष्ठ वातावरण की जरूरत होती है। परमार्थ का गंगा तट वह श्रेष्ठ एवं दिव्य स्थान है, जहां पर दिव्यता के साथ पवित्रता भी कण-कण में व्याप्त है। परमार्थ में स्वच्छता के संदेश को आत्मसात करे, यही कथा की सार्थकता है ।  

Follow Us