सौदागर की शूटिंग छोड़कर क्यों जा रहे थे राजकुमार

बीबीसीखबर, बॉलीवुडUpdated 10-08-2018
सौदागर

 रीना शर्मा, बीबीसी खबर ।

अमिताभ बच्चन और स्मिता पाटिल की फिल्म सौदागर 1973 में आयी थी। किंतु 18 साल बाद सुभाष घई ने 1991 में इसी टाइटल के एक और फिल्म लेकर आए। ये कहानी 2 गहरे दोस्त की हैं जो बाद में एक दूसरे के दुश्मन बन जाते हैं । दिलीप कुमार और राज कुमार के पास सुभाष घई इस फिल्म की कास्टिंग के लिए गए थे, उस समय बहुत ही मजेदार बात हुई थी। सुभाष घई ने एक इंटरव्यू में बताया था कि इन दोनों लीजेंड्री एक्टर्स को फिल्म में काम करने के लिए कैसे मनाया था।  
2 घंटे लगे राजकुमार को तैयार करने में- राजकुमार शूटिंग पर पहुंचे ही देखा, यूपी-बिहारी लहजे वाली हिन्दी में दिलीप कमार बात करते हैं । बल्कि राजकुमार को सामान्य हिन्दी बोलनी थी । सुभाष ने इस बारे में नहीं बताया था । जिस वजह से राजकुमार नाराज हो गए और सुभाष से कहा कि इस फिल्म को छोड़कर लौटकर मुंबई जा रहे हैं ।   
राजकुमार को मनाने में सुभाष को लगे दो घंटे, राजकुमार से कहा कि दिलीप कुमार फिल्म में गरीब परिवार से हैं, बल्कि राजकुमार एक रॉयल फैमिली से इसलिए लहजे में फर्क रखा है। सौदागर फिल्म जिस दिन रिलीज हुई थी, उस दिन विवेक मुश्रान का जन्मदिन था । बल्कि विवेक से पहले इस रोल का ऑफर आमिर को दिया था । लेकिन छोटा रोल होने के कारण मना कर दिया था। 
मनीषा कोइराला के रोल के लिए दिव्या भारती को चुना गया था। उम्र कम होने के कारण दिव्या को रोल से रिप्लेस कर दिया गया था। सूभाष घई ने जब दिलीप को राजकुमार के बारे बताया तो वह यह सुनकर वहा से तुरंत चले गए । 
 

Follow Us