कर्ज ने लगाया गोबिंद सिंह स्टेडियम को ताला, कोशिश हुई नाकाम

बीबीसीखबर, देशUpdated 28-08-2018
कर्ज

 

सुष्मिता शुक्ला बीबीसी खबर

गोबिंद सिंह स्टेडियम को सील होने से बचाने की तमाम कोशिश हुई नाकाम आखिरकार उसमे इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट अधिकारियों द्वारा सारी कोशिश बेकार ही रह गई पी.एन.बी बैंक ने स्टेडियम को सील ही कर दिया गया।

बैंक का कर्ज न अदा करने के चलते ही उन्होने सील किया है और अब आगे की कार्रवाही की जायेगी।बैंक के पास ऐसी 400 करोड़ की संपत्ति है जिसमें सबसे ज्यादा गोबिंद सिंह स्टेडियम की प्रार्पटी गिरवी है।बैंक ने लोन देते समय 288 करोड़ रूपय लगाए थे।

इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट ने 2011 में 94.97 एकड़ स्कीम के लिए पंजाब नैशनल बैंक से 175 करोड़ रुपए का लोन लिया था जिसमें से 112 करोड़ के करीब का लोन अभी बकाया है जिसके चलते बैंक द्वारा उक्त कार्रवाई की जा रही है। इससे पहले 2 जुलाई को बैंक ने नोटिस भेजकर सूचित किया था कि यदि 12 जुलाई तक ट्रस्ट ने राशि अदा करने की कार्रवाई शुरू नहीं की तो बैंक 13 जुलाई को स्टेडियम को सील कर देगा। इस पर ट्रस्ट ने 13 जुलाई को 60 लाख रुपए का आई.सी.आई.सी.आई. बैंक का चैक भेजकर सील न लगाने की रिक्वैस्ट की थी। ट्रस्ट ने पत्र संख्या 1252 में स्वतंत्रता दिवस का हवाला देकर कहा था कि 15 अगस्त को स्टेडियम में राज्य स्तरीय कार्यक्रम होता है इसलिए उन्हें 15 अगस्त तक की मोहलत दी जाए। 
1.40 करोड़ दिया, 70 लाख का वायदा नहीं हुआ पूरा

जुलाई में सील करने का नोटिस मिलने के बाद ट्रस्ट अधिकारी कुभकर्णी ङ्क्षनद्रा से जागे और पैसे जमा करवाने शुरू किए। 12 जुलाई से 26 अगस्त तक 1.40 करोड़ रुपए जमा करवाए। ट्रस्ट ने इसके अलावा 70 लाख रुपए और जमा करवाने का वायदा किया था लेकिन वह जमा नहीं हो पाए। ट्रस्ट ने 13 जुलाई को 60 लाख, 19 जुलाई को 40 लाख, 24 जुलाई को 30 लाख तथा मोहलत खत्म होने से एक दिन पहले 14 अगस्त को 10 लाख रुपए जमा करवाए।

Follow Us