कान के लिए घातक बन रहा है मोबाइल

बीबीसीखबर, फिटनेसUpdated 09-09-2018
कान

 सुष्मिता शुक्ला ,बीबीसी खबर

मोबाइल पर लगातार घंटो बात करना भारी पड़ सकता है। इस बात का अनुमान ईयर फाउंडेशन के सर्वे से लगाया जा रहा है।  कि मोबाइल में घंटो बात करने से कान में एक ऐसा दर्द उठता है जो सामान्य पेनकिलर से भी ठीक नहीं होता है।  इससे व्यक्ति बेहरेपन का शिकार होने के साथ साथ याददाश्त  की समस्या से जूझ रहा है।

मोबाइल में लगातार बात करने से कान की कोशिकाए तनाव में आ जाती है। धीरे धीरे इसका असर शरीर के अन्य हिस्सो में दिखने लगता है। मोबाइल से होने वाले कान दर्द से लिए ईएनटी विशेषज्ञ विशेष दवा दे रहे है। ईयर फाउंडेशन ने कान,नाक ,गला के विशेषज्ञो  के यहा से ये आकड़े जुटाए है। सर्वे में बताया गया कि पहले रोगियों के कान में सनसनाहट होती है फि चक्कर आने लगते है. और याददाश्त कम होने लगती है। और कान में असहनीय दर्द भी तेजी से उठता है। जो बर्दाश्त के बाहर है। ईयर फाउंडेशन  मोबाइल यूजर्स के लिए एक एडवाइजरी तैयार कर रहा है जिससे बचाव के मशविरा दिया जाएगा। 

Follow Us