सोनाक्षी सिन्हा पर केस दर्ज न होने पर शिकायतकर्ता ने दी आत्महत्या की चेतावनी

बीबीसीखबर, स्पॉटलाइटUpdated 13-01-2019
सोनाक्षी

 बीबीसी खबर

सोनाक्षी सिन्हा सहित अन्य लोगों के खिलाफ की गई धोखाधड़ी की शिकायत के मामले में डेढ़ माह बाद भी जांच में कोई प्रगति नहीं हुई है। अब तक पुलिस ने आरोपी पक्ष को न तो नोटिस भेजे न ही केस दर्ज किया गया है। शिकायतकर्ता ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पुलिस की जांच पर सवाल उठाते हुए बताया कि पुलिस इस मामले में एफआईआर दर्ज करने से क्यों बच रही है? जबकि एफआईआर कहीं से भी दर्ज कराई जा सकती है। शिकायतकर्ता ने पुलिस की जांच में तेजी न आने पर आत्महत्या की चेतावनी दी है। 

कटघर के शिवपुरी निवासी प्रमोद शर्मा ने एसएसपी को बताया कि दिल्ली में 30 सितंबर को उन्होंने इंडिया फैशन एंड ब्यूटी अवॉर्ड कार्यक्रम का आयोजन किया था। जिसमें अवार्ड वितरण के लिए बॉलीवुड अदाकारा सोनाक्षी सिन्हा को आना था। सोनाक्षी के आने का कार्यक्रम प्रमोद ने टैलेंट फुल ऑन कंपनी के मालिक अभिषेक सिन्हा से 24 लाख रुपये और उस रकम का जीएसटी कर अदा करने का करार कर किया था। सोनाक्षी को बुलाने के लिए टैलेंट फुल ऑन कंपनी के पदाधिकारी ने एक्सिड एंटरटेनमेंट कंपनी के पदाधिकारी धूमिल ठक्कर, एडगर सके रिया के अलावा सोनाक्षी की मैनेजर मालविका पंजाबी से संपर्क किया और जून माह में करार हो गया था।

एक वीडियो वायरल कर सोनाक्षी ने कार्यक्रम में आने की जानकारी दी थी। 37 लाख रुपये की रकम मुरादाबाद से आनलाइन ट्रांसफर की गई थी। इनमें से चार लाख रुपये सोनाक्षी के खाते में ट्रांसफर किए गए थे। बाकी 33 लाख रुपये अभिषेक की कंपनी टैलेंट फुल ऑन और उनकी पत्नी स्वाति के अलावा आशीष के खाते में डाले गए थे। आरोप है कि 30 सितंबर को वह कार्यक्रम में नहीं आईं। रकम वापस न मिलने और आरोपी पक्ष की ओर से धमकी दिए जाने पर प्रमोद ने 24 नवंबर को एसएसपी से शिकायत की है। एसएसपी जे रविन्दर गौड ने इस मामले की सीओ कटघर सुदेश गुप्ता को जांच सौंपी थी। सीओ कटघर सुदेश गुप्ता ने बताया कि इस मामले में अभी नोटिस नहीं भेजा गया है, तैयारी की जा रही है। जल्द ही आरोपियों को नोटिस भेजा जाएगा।

Follow Us