एक चिंगारी ने बुझा दी एक ही परिवार की चार जिंदगियां

बीबीसीखबर, बिहारUpdated 04-02-2019
एक

 बीबीसी खबर:भागलपुर

श्रीपुर गांव में रविवार की देर रात करीब 12 बजे अलाव की चिंगारी से निकली आग ने आठ घरों को अपनी चपेट में लिया। देखते ही देखते एक ही परिवार के चार बच्चे जिंदा जल गए, जबकि बच्चों की दादी और चाचा गंभीर रूप से झुलस गए। दोनों को इलाज के लिए अनुमंडल अस्पताल ले जाया गया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया गया। 

 

मरने वालों चारों बच्चे छतीश सिंह के हैं। मरने वालों की पहचान कृष्ण कुमार (4 वर्ष), क्रांति कुमार (8 वर्ष), शैलजा कुमारी (6 वर्ष) पुष्पा कुमारी (4 वर्ष) के रूप में हुई है। झुलसने वालों में बच्चों की दादी करुणा देवी और छतीश सिंह के भाई पारस सिंह का नाम शामिल है। अगलगी में हजारों रुपए की संपत्ति के नुकसान का अनुमान है।

 
घटना के संबंध में बताया जा रहा है रविवार की रात 12 बजे छतीश सिंह के घर के पास ही अलाव जल रहा था। उसमें से निकली चिंगारी ने पहले एक घर को लपेटा और फिर देखते ही देखते पास की आठ झोपड़ियों को चपेट में ले लिया। जिस वक्त आग लगी उस वक्त सभी लोग और बच्चे घर में सो रहे थे। बड़े लोग तो किसी तरह घर से निकल गए पर बच्चे घर से नकल नहीं पाए और जिंदा जल गए। 

आग लगने की खबर पर जुटे गांव के लोगों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की पर सफलता नहीं मिली। आग की लपटें इतनी तेज थीं की कोई भी व्यक्ति वहां पर ठहर नहीं पा रहा था। इसके बाद ग्रामीणों ने इसकी सूचना फायरब्रिगेड को दी। सूचना के आधे घंटे के बाद फायरब्रिगेड की गाड़ी पहुंची। घटनास्थल पर पुलिस बल के साथ सीओ विद्यानंद देर रात तक कैंप करते रहे। 

 
नवगछिया एसपी निधि रानी ने बताया कि अलाव की चिंगारी से आग लगी थी। झोपड़ी होने के कारण आग तेजी से फैली और एक ही परिवार के चार बच्चों की मौत हो गई जबकि दो लोग झुलस गए। आग पर देर रात काबू पा लिया गया।

 

Follow Us