नाबालिग लड़की के साथ एक पब्लिक पार्क में दिनदहाड़े रेप

बीबीसीखबर, मध्य प्रदेशUpdated 05-02-2019
नाबालिग

 बीबीसी खबर

मध्य प्रदेश में एक पब्लिक पार्क में दिनदहाड़े रेप का मामला सामने आया है। नाबालिग पीड़िता ने अपने पिता को बताया कि उनके सहकर्मी ने उसके साथ पिछले साल 13 दिसंबर को एक पब्लिक पार्क में बलात्कार किया था। अपने साथ हुई घटना के बाद 7 हफ्तों तक सदमे में रहने के बाद पीड़िता ने आखिरकार अपने पिता को सारी सच्चाई बताई। इसके बाद परिवार ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कराया हालांकि आरोपी अभी फरार है। 

पीड़िता ने अपने पिता को बताया कि 21 साल का आरोपी अक्सर उसका पीछा करता था और उससे जबरन शारीरिक संबंध बनाने की बात कहता था। मामले की जांच कर रहे एसआई गजेंद्र जोहरिया ने बताया कि आरोपी की छोटी बहन पीड़िता की दोस्त है जो नौवीं में पढ़ती है। दोस्त ने ही पीड़िता को छह महीने पहले एक शादी में अपने भाई से मिलाया था। 

जोहरिया ने बताया, 'तभी से आरोपी उसका पीछा करने लगा। पहले उससे फोन पर बातचीत शुरू हुई लेकिन बाद में वह काफी अड़ियल हो गया और पीड़िता से अश्लील बातें करने लगा। इस पर पीड़िता ने उसे छिड़क दिया था।' जोहरिया ने बताया, '13 दिसंबर 2018 को आरोपी ने पीड़िता को कॉल करके मिलने के लिए बुलाया लेकिन पीड़िता ने मना कर दिया और सुबह 8 बजे स्कूल के लिए निकल गई। आरोपी ने उसी बस से उसका पीछा किया और स्वर्ण जयंती पार्क के पास उतरने को कहा। 

उसकी धमकी से डरकर वह उसके साथ पार्क में चली गई। वहां आरोपी ने उसे दो घंटे तक चुपचाप बैठने को कहा और जब मॉर्निंग वॉकर वहां से चले गए तो वह उसे खींचकर एक सुनसान जगह ले गया और झाड़ियों में उसके साथ रेप किया। लड़के ने उसे धमकी भी दी कि अगर किसी को बताया तो वह उसे और उसके परिवार को मार देगा। 

पीड़िता तभी से काफी दहशत में थी। दूसरी ओर आरोपी लगातार उसका उत्पीड़न करता रहा। उसे देर रात कॉल करता था और अश्लील मेसेज भेजता है। जब रविवार को उसके पिता ने फोन पर मिस कॉल देखी तो पीड़िता ने सारी बात बता दी कि कैसे उनके कलीग ने उसका उत्पीड़न किया। गुस्से में जब पिता ने आरोपी को अपनी बेटी से दूर रहने के लिए कहा तो आरोपी ने पिता को बताया कि वह पहले से ही उनकी बेटी के साथ रेप कर चुका है। इसके बाद परिवार ने पुलिस स्टेशन आईपीसी और पॉक्सो के तहत केस दर्ज कराया। 

Follow Us