बेटी से रेप के मामले में समझौते के नाम पर लिए 5 लाख रुपए

बीबीसीखबर, पानीपतUpdated 08-02-2019
बेटी

 बीबीसी खबर

पानीपत में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है, जिस पर अपनी बेटी से रेप के मामले में समझौते के नाम पर 5 लाख रुपए लेने का आरोप है। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने गवाही से पलटने के एवज में अपने ही रिश्तेदार से पूरे 1 करोड़ की मांग की थी। दोनों पक्षों के बीच तय हुआ कि 5 लाख रुपए कैश दिए जाएंगे, जबकि बाकी की रकम चेक से। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश करने की तैयारियां पूरी कर ली हैं।

किला थाने के एसएचओ विरेंद्र सिंह के मुताबिक शहर की एक कॉलोनी निवासी व्यक्ति ने 10 जनवरी को शिकायत दी थी कि वह सेल्समैन है। उसकी पत्नी की मौत हो चुकी है। उसके ड्यूटी पर जाने के बाद साढ़े 16 वर्षीय बेटी घर पर अकेली थी। तभी कॉलोनी के ही दूर के रिश्तेदार नरेश कुमार के बेटे 19 वर्षीय राहुल ने घर में घुसकर उसकी बेटी के साथ रेप किया। पुलिस ने केस दर्ज करके 12 जनवरी को राहुल को गिरफ्तार करके करनाल जेल भेज दिया था।

 

दूसरी ओर बीते दिनों कॉलोनी में श्मशान रोड पर रहने वाले कंबल फैक्ट्री के मालिक नरेश कुमार ने पुलिस को शिकायत दी कि उसके दो बेटों और एक बेटी में सबसे छोटे बेटे राहुल के खिलाफ रेप का झूठा केस दर्ज कराया गया था। लड़की का पिता मुकदमे का भय दिखाकर राजीनामा करने के लिए एक करोड़ रुपए की मांग कर रहा था, जिसकी उन्होंने रिकॉर्डिंग भी कर ली। लड़की के पिता ने पांच लाख रुपए एडवांस मांगे और बाकी की राशि चेक से मांगी। नरेश ने पड़ोसी पुष्पेंद्र को सारी बातें बता दी। गुरुवार को नरेश किला थाने में शिकायत लेकर पहुंच गया। वहां पर शिकायत दी तो पुलिस ने केस दर्ज करके रेड करने के लिए टीम बनाई।

 

इसके बाद नरेश और पुष्पेंद्र अपने खाते से रुपए निकाले। फोन करने पर लड़की के पिता ने रुपए लेकर उनको देवी मंदिर की कैंटीन में बुलाया। दोनों पुलिस के साथ देवी मंदिर पहुंच गए। पुलिस टीम दूर खड़ी हो गई। इसके बाद नरेश ने पांच लाख रुपए देने के बाद पुलिस को इशारा कर दिया। पुलिस ने रुपए लेते रंगे हाथ लड़की के पिता को गिरफ्तार कर लिया।

 

इस बारे में डीएसपी शहरी सतीश गौतम का कहना है कि पकड़े गए आरोपी को अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड मांगा जाएगा। रिमांड दौरान कई सवालों को लेकर आरोपी से पूछताछ की जाएगी जैसे इस सौदेबाजी में आरोपी के साथ कौन-कौन मिला है। आरोपी व शिकायतकर्ता के मोबाइल फोनों की डिटेल को भी खंगाला जाएगा।

 

Follow Us