घर में सुख और शांति नहीं मिलती तो वास्तु के अनुसार घर में करें ये बदलाव

बीबीसीखबर, वास्तुUpdated 08-02-2019
घर

 बीबीसी खबर

व्यक्ति पैसे कमाने के लिए कड़ी मेहनत करता है ताकि उसका जीवन आराम से बीत सके। इसके लिए वह सुबह से रात तक घर से बाहर रहता है। व्यक्ति को चैन और सुख अपने घर पर ही मिलता है। घर पर पहुंचते ही सारी थकावट दूर हो जाती है। वहीं अगर घर में वास्तु संबंधी कमियां है तो घर में सुख और शांति नहीं मिलती। आइए जानते हैं वास्तु की कुछ जरूरी टिप्स

1- वास्तु में नकारात्मक ऊर्जा को समाप्त करने के लिए तुलसी के पौधे का विशेष महत्व बताया गया है। इसलिए घर में तुलसी का पौधा जरूर लगाएं। इसके अलावा तुलसी के पत्तों का नियमित सेवन करने से कई तरह की बीमारियां आपके पास नहीं भटकती है। तुलसी में औषधि गुण होने से घर के वातावरण में हमेशा ताजगी बनी रहती है।

2- वास्तु शास्त्र में ईशान कोण यानि घर की उत्तर-पूर्व को हमेशा साफ रखना चाहिए। क्योंकि इस दिशा में ही सूर्य किरणें सबसे ज्यादा प्रवेश करती है। इसके अलावा पूर्व दिशा में मुख करके ही खाना खाना चाहिए।

 3-
वास्तु में दक्षिण दिशा को अशुभ माना जाता है। इसलिए रात को सोते समय व्यक्ति का सिर हमेशा दक्षिण दिशा में होना चाहिए। दक्षिण दिशा की तरफ पैर कर सोने से पाचन संबंधी तमाम तरह की दिक्कतें आने लगती है।

4- हफ्ते में कम से कम एक दिन पानी में नमक मिलाकर पोंछा लगाना चाहिए इससे घर पर रह रही नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है।

5- घर के मेन दरवाजे से ही सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है इसलिए हमेशा घर का प्रवेश द्वार एकदम साफ-सुथरा रखना चाहिए। घर का मुख्य दरवाजा जितना साफ और सुंदर होगा माता लक्ष्मी के आने की संभावना उतनी ज्यादा रहेगी। मुख्य दरवाजे पर स्वस्तिक, , शुभ-लाभ जैसे मांगलिक चिह्नों को उपयोग जरूर करें साथ ही भगवान गणेश की प्रतिमा लगाएं।

6- घर पर पूजा घर में देवी-देवताओं की मूर्ति या तस्वीरें ज्यादा न रखें। एक ही भगवान की कई मूर्तियां नहीं होनी चाहिए और बेडरूम में भगवान की कोई भी तस्वीर नहीं होनी चाहिए।

7- वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य दरवाजा पूर्व या उत्तर दिशा में होना शुभ माना जाता है। अगर ऐसा संभव ना हो तो मुख्य दरवाजे पर स्वास्तिक की प्राण प्रतिष्ठा करवाकर लगना चाहिए।

8- वास्तु शास्त्र में दरवाजे के अलावा घर की खिड़कियों पर भी ध्यान रखने के बारे में बताया है। दरवाजे खिड़कियां अंदर की तरफ ही खुलें और खुलते-बंद होते समय किसी भी प्रकार की आवाज नहीं आनी चाहिए। 

9- देवी-देवताओं की प्रतिमा कभी भी नैत्य कोण में नहीं लगाने चाहिए  इससे काम में परेशानियां आने लगती है। इसके अतिरिक्त घर पर कभी भी फालतू सामान, टूटे-फूटे फर्नीचर, कूड़ा कबाड़ तथा बिजली का सामान इकट्ठा नही होना चाहिए। 

Follow Us