परिजन से 20 लाख रुपए लेने के बाद भी अगवा किए गए दो जुड़वां भाइयों की हत्या

बीबीसीखबर, मध्य प्रदेशUpdated 24-02-2019
परिजन

बीबीसी खबर

 

मध्प्रदेश में सतना जिले के चित्रकूट से 12 फरवरी को अगवा किए गए दो जुड़वां भाइयों श्रेयांश और प्रियांश की शनिवार को हत्या कर दी गई। हाथ बंधे दोनों के शव उत्तरप्रदेश के बांदा में नदी के पास मिले। बताया जा रहा है कि अपहरणकर्ताओं ने एक करोड़ रुपए फिरौती मांगी थी। परिजन ने 20 लाख रुपए दे भी दिए थे। बच्चों के शव बरामद होने के बाद चित्रकूट में कुछ जगहों पर हिंसा की भी खबरें हैं। 

                

बच्चों की उम्र छह साल थी। उनका घर उत्तरप्रदेश के चित्रकूट धाम (कर्वी) के रामघाट में था। बच्चों के पिता बृजेश रावत तेल व्यवसायी हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि बच्चों ने अपहरणकर्ताओं को पहचान लिया होगा, इसलिए उन्होंने फिरौती मिलने के बाद भी उन्हें मार दिया।

 

दोनों बच्चे चित्रकूट (मप्र) के सद्गुरु पब्लिक स्कूल में पढ़ते थे। वे 12 फरवरी को दोपहर करीब एक बजे स्कूल की छुट्टी के बाद बस से घर लौट रहे थे। स्कूल परिसर में ही बाइक से आए दो नकाबपोश युवकों ने पिस्तौल दिखाकर बस को रोका और बच्चों को अगवा कर लिया था। यह वारदात सीसीटीवी में भी कैद हुई थी।

 

घटना से आक्रोशित लोग सड़कों पर उतर आए हैं। यहां धारा 144 लगा दी गई है। जानकी कुंड इलाके में लोगों ने जाम लगाकर पुलिस और सद्गुरु सेवा ट्रस्ट के खिलाफ नारेबाजी की। पूरे इलाके में दो से तीन हजार की संख्या में लोग जुटे हैं। कुछ जगहों पर नाराज लोगों ने तोड़फोड़ भी की। पूरा बाजार बंद है, वहीं यात्री बसें और ऑटो को रोक जा रहा है। उग्र भीड़ को नियंत्रण करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे।

 

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मृतक बच्चों के पिता से फोन पर बात की। सीएम ने परिजनों को भरोसा दिलाया है कि सरकार उनके साथ है। मध्यप्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा भाेपाल में कहा कि बच्चों की तलाश में उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश पुलिस का संयुक्त अभियान चल रहा था। अपराध उत्तरप्रदेश में हुआ है। यह वहां की भाजपा सरकार की नाकामी है। छह लोग गिरफ्तार किए गए हैं। मामला फास्टट्रैक कोर्ट में चलाया जाएगा। उत्तरप्रदेश सरकार को इस्तीफा दे देना चाहिए।

Follow Us