अरविंद केजरीवाल- आजाद भारत की केंद्र सरकार ने अंग्रेजों से ज्यादा दिल्ली का शोषण किया

बीबीसीखबर, दिल्लीUpdated 05-03-2019
अरविंद

 बीबीसी खबर

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का मानना है कि आजाद भारत की केंद्र सरकार ने अंग्रेजों से ज्यादा दिल्ली का शोषण किया है। केंद्र सरकार दिल्लीवालों का खून चूस रही है। केजरीवाल सोमवार को बुराड़ी में नवनिर्मित चौपाल का उद्घाटन करते वक्त बोल रहे थे।

बकौल केजरीवाल, दिल्ली केंद्र को मुंबई के बाद दूसरा सबसे ज्यादा टैक्स देने वाला राज्य है। लेकिन बदले में करीब दो करोड़ आबादी वाली दिल्ली को सिर्फ 325 करोड़ रुपये मिलता है। जबकि 15 लाख की आबादी वाले गोवा को 32 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम केंद्र से मिलती है। केजरीवाल ने केंद्र सरकार की तुलना अंग्रेजों के शासन के करते हुए कहा कि पहले अंग्रेज देशवासियों का खून चूसकर लंदन ले जाते थे, आज यही काम केंद्र सरकार कर रही है। 

केजरीवाल ने चेतावनी दी कि अब दिल्लीवाले इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे। इस तरह का शोषण बंद करना पड़ेगा। इसके लिए दिल्लीवालों को पूर्ण राज्य का दर्जा देना होगा। इसके बाद ही दिल्ली की सारी समस्याएं दूर होंगी।  पूर्ण राज्य होने के बाद दिल्ली पुलिस भी सुधर जाएगी और सीलिंग व बेरोजगारी से भी दिल्लीवालों को दो-चार नहीं होना पड़ेगा। केजरीवाल ने लोगों से अपील की इस बार सातों सांसद आप की जिताओ, दो साल के भीतर दिल्ली पूर्ण राज्य बनेगा।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दलित समाज के लिए इस तरह की चौपालें पूरी दिल्ली में बन रही हैं। दलितों की  बेहतरी और बाबा साहब के सपने का पूरा करने के लिए दिल्ली सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में सबसे ज्यादा काम किया है। इतना ही नहीं, दिल्ली सरकार न एक योजना शुरू की है, जिससे प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बच्चों को बेहतरीन कोचिंग की सुविधा दिलाई जाएगी। इस पर उसे कोई खर्च नहीं करना होगा, सारा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी।
 

Follow Us