चुनावी रेस में ठाकुर-ठाकुर आमने सामने

बीबीसीखबर, शिमलाUpdated 06-04-2019
चुनावी

बीबीसी खबर

हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से राम लाल ठाकुर को कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव का टिकट दे दिया है। लंबी माथापच्ची के बाद हाईकमान ने राम लाल ठाकुर को हमीरपुर संसदीय सीट से चुनावी मैदान में उतारने का फैसला ले ही लिया। हाईकमान ने सूची कर दी है।

गौरतलब है कि पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू और प्रदेश कांग्रेस भूतपूर्व सैनिक सेल के अध्यक्ष कर्नल धर्मेंद्र भी टिकट की दौड़ में थे लेकिन अब राम लाल ठाकुर को टिकट मिलने से इनका नाम कट गया है। बताया जा रहा है कि एआईसीसी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने टिकट के दावेदारों से टेलीफोन पर विचार-विमर्श भी किया।

यह भी पूछा गया कि हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में भूतपूर्व सैनिकों का वोट बैंक कितना है। इन दावेदारों से अलग-अलग सवाल भी पूछे गए। राम लाल ठाकुर वर्तमान में श्री नैना देवी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक हैं। अगर वे भाजपा उम्मीदवार अनुराग ठाकुर को हरा देते हैं तो श्री नैना देवी विधानसभा क्षेत्र में उप-चुनाव होगा।

हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस टिकट की घोषणा के तुरंत बाद रामलाल ठाकुर दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। इस सीट से पार्टी का चुनावी चेहरा बने रामलाल दिल्ली में कांग्रेस के बड़े नेताओं से मुलाकात कर बिलासपुर लौटेंगे। इधर, उनके समर्थकों ने जोरदार स्वागत की तैयारी कर ली है। वापसी पर उनके स्वारघाट पहुंचने पर समर्थक भव्य स्वागत करेंगे।

अमर उजाला से बातचीत में रामलाल ठाकुर ने कहा कि वह कभी टिकट की दौड़ में नहीं रहे। उन्होंने पार्टी के पास आवेदन भी नहीं किया था। पार्टी ने उन्हें टिकट के लायक समझा और जो भरोसा जताया है, उसके लिए वह पार्टी हाईकमान के आभारी हैं। उन्होंने कहा कि वह दिल्ली जा रहे हैं। जिसके बाद वहां से लौट कर आगे की रूपरेखा तैयार करेंगे।

पूर्व में संसदीय चुनाव में मिली हार के सवाल पर रामलाल ठाकुर ने कहा कि पहले की परिस्थितियां और थीं। उन्होंने कहा कि हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में लगातार तीन बार सांसद रहे अनुराग ठाकुर की कार्यप्रणाली से लोगों में भारी असंतोष फैला हुआ है। भाजपा के लोग ही उन्हें अंदर खाते पसंद नहीं कर रहे हैं। रामलाल ठाकुर ने कहा कि बिलासपुर, हमीरपुर और ऊना जिले में कांग्रेस की स्थिति बेहतर है। लोक सभा चुनाव में उन्हें इसका लाभ भी मिलेगा। 

Follow Us