दिल्ली के सीईओ ने नमो टीवी पर किसी भी कार्यक्रम को बगैर मंजूरी प्रसारित न करने के भाजपा को दिए निर्देश

बीबीसीखबर, दिल्लीUpdated 14-04-2019
दिल्ली

 बीबीसी खबर

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) ने नमो टीवी पर किसी भी कार्यक्रम को बगैर मंजूरी प्रसारित न करने के भाजपा को निर्देश दिए हैं। इन कार्यक्रम के लिए मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मॉनिटरिंग कमेटी (एमसीएमसी) की पूर्वानुमति अनिवार्य है। दो दिन पहले चुनाव आयोग की ओर से भी इस संबंध में निर्देश दिए गए थे। 

आयोग की ओर से कहा गया था कि चूंकि नमो टीवी भाजपा प्रायोजित है, इसलिए पहले रिकॉर्ड किए गए कार्यक्रमों या राजनीतिक प्रचार से संबंधित किसी भी कंटेट के प्रसारण से पहले एमसीएमसी से प्रमाण पत्र हासिल करना अनिवार्य है। बगैर प्रमाण पत्र प्रसारित होने वाले तमाम प्रचार संबंधी कंटेट्स तत्काल प्रभाव से हटाने को भी कहा गया था।

 
सीईओ ने भी इस सिलसिले में कमेटी की स्वीकृति के बगैर राजनीतिक कंटेट्स हटाने के निर्देश दिए हैं। सीईओ कार्यालय ने नमो टीवी पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रमों पर नजर रखने के लिए दो अधिकारियों को जिम्मेवारी सौंप दी है। साथ ही भाजपा से यह इस बात की भी जानकारी देना है कि ऐसे कंटेट किस प्लेटफॉर्म पर दिखाए जाएंगे। हालांकि रैली और पार्टी की वेबसाइट पर ऐसे कार्यक्रमों का प्रसारण किया जा सकता है। 


कांग्रेस पार्टी की ओर से इस संबंध में दर्ज शिकायत के बाद आयोग ने दिल्ली के सीईओ से इस मामले में रिपोर्ट सौंपने को कहा है। दिल्ली सीईओ ने नमो टीवी को नमो ऐप का हिस्सा बताने पर लोगो (प्रतीक चिन्ह) को मंजूरी दे दी है, लेकिन इसके कंटेट्स को स्वीकृति नहीं दी गई है, क्योंकि इसमें प्रधानमंत्री के पुराने संबोधन भी हैं। 

 

Follow Us