16 बार चुनाव हारने के बाद 17वीं बार फिर मैदान में

बीबीसीखबर, देशUpdated 15-04-2019
16

 बीबीसी खबर

मथुरा की सियासी महाभारत में 16 बार हारने के बाद 17वीं बार फिर मैदान में हैं यह अनोखे प्रत्याशी। नाम है फक्कड़ बाबा रामायणी और उम्र हो चली है 76 वर्ष । फक्कड़ बाबा का कहना है कि उनके गुरु ने कहा था कि 20वीं दफा में चुनाव जीतोगे। इसलिए, लगातार चुनाव लड़ रहा हूं। वे मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मस्थान के समीप गोविंद नगर स्थित गर्तेश्वर महादेव मंदिर में डेरा डाले रहते हैं। चुनाव के लिए जमानत राशि का इंतजाम भी वहीं से करते हैं।

5 विधानसभा वाली मथुरा संसदीय सीट पर भाजपा की हेमा मालिनी समेत 13 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं। भाजपा, गठबंधन के रालोद प्रत्याशी और कांग्रेस प्रत्याशी की चुनावी गतिविधियां तो सामने आ रही हैं, जबकि बाकी किसी के बारे में प्रशासन को भी जानकारी नहीं है। फक्कड़ बाबा रामायणी तो नामांकन कराने के बाद निकले ही नहीं हैं। प्रचार के लिए किसी वाहन की अनुमति भी उन्होंने नहीं ली है। महानगर में अभी तक कहीं फक्कड़ बाबा वोट मांगते नजर नहीं आए हैं।

बताया जाता है कि फक्कड़ बाबा पहले तो चुनावों में अपने प्रचार करने के लिए जाते थे लेकिन पिछले तीन-चार इलेक्शन से वह वोट मांगने नहीं जा रहे हैं। उनका कहना है कि उनके गुरु ने कहा है कि वो 20वीं बार में चुनाव जीतेंगे, इसलिए वो उसी चुनाव में पूरी ताकत लगाएंगे। भाजपा, गठबंधन व कांग्रेस के अलावा अन्य उम्मीदवारों की बात करें तो किसी ने भी गाड़ियों की अनुमति नहीं ली है। सभाओं के बारे में भी अधिकांश ने कोई आवेदन तक नहीं किया है। अगर तीन प्रमुख प्रत्याशियों को छोड़ दिया जाए तो बाकी में से कोई भी वोट मांगते नहीं दिख रहा है। इनके बारे में कोई सियासी चर्चा भी अभी तक सामने नहीं आई है। 

Follow Us