तक्षशिला हादसे में जान गंवाने वाले शवों का पोस्टमार्टम 14 घंटे चला

बीबीसीखबर, देशUpdated 26-05-2019
तक्षशिला

 बीबीसी खबर

तक्षशिला हादसे में जान गंवाने वाले बच्चों के शवों का स्मीमेर अस्पताल में शुक्रवार रात 10 बजे से शवों का पोस्टमाॅर्टम शुरू हुआ और शनिवार दोपहर 12 बजे तक चलता रहा। 12 डॉक्टरों सहित 22 लोगों के स्टाफ ने लगातार 14 घंटे तक शवों का पोस्टमार्टम किया। स्मीमेर में पहली बार इतने लंबे समय तक पोस्टमार्टम चला।

पीएम करते समय डॉक्टर और नर्स की आंखें भी नम हुई जा रही थीं। डॉक्टरों ने कहा कि पहली बार इतने शव का एक साथ पीएम किया। डॉ. प्रणव प्रजापति ने बताया कि पूरी रात पोस्टमार्टम चलता रहा। सुबह किरण अस्पताल से 17 वर्षीय हेनी नाम की लड़की की भी मौत हो गई। उसका भी पीएम दोपहर 12 बजे किया गया। 14 घंटे तक एक के बाद एक 22 शवों का पोस्टमॉर्टम किया गया।

 

शनिवार को कडोदरा रोड के सरदार मार्केट के पास की ढाई साल की करडवी विनयभाई सीतापरा, वराछा की गौरव पार्क सोसाइटी की 17 वर्षीय हैप्पी दीपकभाई पंचाणी और सरथाणा जकातनाका के शिवांता पैलेस की रहने वाली 20 वर्षीय ध्रुवी संजयभाई राखडिया की मौत निजी अस्पताल में हो गई। स्मीमेर सहित शहर के अलग-अलग अस्पतालों में 20 लोग भर्ती हैं। छह की हालत नाजुक बनी हुई है।

 

कडोदरा रोड की सरदार मार्केट निवासी 22 वर्षीय ग्रीष्मा गजेरा तक्षशिला स्थित ड्राइंग क्लासेस जाती थी। शुक्रवार को उसकी आखिरी क्लास थी। उसके कहने पर करडवी के पापा ने उसे एक घंटे को जाने दिया। उन्हें क्या पता था कि ग्रीष्मा के साथ करडवी भी कभी वापस नहीं आ पाएगी।

 

Follow Us