जाने बांसुरी से कैसे बदल सकते हैं आप अपना भाग्य

बीबीसीखबर, वास्तुUpdated 09-07-2019
जाने

 बीबीसी खबर

भगवान कृष्ण को सबसे ज्यादा प्रिय बांसुरी का वास्तु शास्त्र में काफी महत्व है। कान्हा का यह प्रिय वाद्य यंत्र न सिर्फ शांति और शुभता लाने के लिए बल्कि घर से जुड़े तमाम वास्तुदोष को दूर करने के लिए जाना जाता है। चूंकि यह प्राण वायु प्रदान करने में भी मददगार होती है, इसलिए इसे वास्तु दोष निवारक कहा गया है।


सनातन परंपरा में बांस के पौधे को बहुत ज्यादा शुभ माना गया है। यदि आप व्यापार में हो रहे घाटे या तमाम तरह की दिक्कतों को लेकर काफी परेशान रहते हैं और आपकी ख्वाहिश अपने कार्यक्षेत्र में तरक्की पाने की है तो आप बांस से बनी बांसुरी का यह महाउपाय कर सकते हैं। व्यापार में लाभ हासिल करने के लिए आप भगवान श्रीकृष्ण का पूजन करते हुए अपनी दुकान या आफिस की छत पर बांसुरी लटका दें। यह उपाय आपके लिए काफी शुभ और लाभ दिलाने वाला साबित होगा। 

यदि दांपत्य जीवन में कलह का प्रवेश हो गया है और पति-पत्नी के बीच हमेशा अनबन रहती है तो आप बांसुरी का उपाय करके अपने जीवन में मिठास ला सकते हैं। सबसे पहले आप देखें कि बेडरूम में कहीं बेड के ऊपर बीम तो नहीं है। यदि ऐसा है तो आप इस वास्तु दोष को दूर करने के लिए दो बांसुरी लेकर उसे बीम के दोनों तरफ लाल फीते से बांध दें। इस उपाय को करते समय इस बात का ध्यान रखें कि बांसुरी का मुंह बेड की ओर रहे।
आर्थिक समस्याओं से मुक्ति पाने के लिए घर में चांदी की बांसुरी रखना चाहिए। वास्तु शास्त्र के अनुसार चांदी की बांसुरी रखने से घर में लक्ष्मी का वास बना रहता है और तमाम वास्तुदोष भी दूर हो जाते हैं। वास्तु से जुड़े इस उपाय को करने से धन आगमन के स्रोत बनने लगते हैं। 

यदि आप अपनी धार्मिक या आध्यात्मिक साधना में सफल होना चाहते हैं तो आपके लिए बांसुरी का यह उपाय काफी शुभ साबित होगा। आध्यात्मिक साधना को सफल करने के लिए अपने साधना स्थल, मंदिर आदि में 21 या 51 बांसुरियों से बनी झालर लगाए।

Follow Us