हेरोइन की तस्करी में गिरफ्तार किए गए थानेदार ने गोली मार कर की आत्महत्या

बीबीसीखबर, अमृतसरUpdated 14-08-2019
हेरोइन

 बीबीसी खबर

 

स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) द्वारा हेरोइन की तस्करी में गिरफ्तार किए गए थानेदार ने एसटीएफ सेल में तैनात एक संतरी की एके-47 छीनकर अपनी कनपटी में गोली मार आत्महत्या कर ली। एसटीएफ अधिकारी रछपाल सिंह ने मामले की जांच का आदेश दिया है। सेल को सील कर मीडिया के वहां जाने पर पाबंदी लगा दी गई है।

सोमवार देर रात एसटीएफ ने अटारी सेक्टर के थाना घरिंडा में तैनात दो थानेदारों को हेरोइन और नशीले पदार्थों के साथ गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार थानेदारों में अवतार सिंह निवासी छेहरटा और जोरावर सिंह निवासी गांव अचिंतपुर शामिल थे। दोनों को गिरफ्तार कर एसटीएफ सेल में रखा गया था।

मंगलवार सुबह जब इस सेल के बाहर एक संतरी एके-47 के साथ ड्यूटी कर रहा था तो अवतार सिंह ने उसकी एके-47 छीनकर खुद को गोली मार ली। आवाज सुन कर सेल में तैनात सभी पुलिस अधिकारी व कर्मचारी उस तरफ भागे। ड्यूटी पर तैनात संतरी ने घटना की जानकारी अधिकारियों को दी। जिस सेल में अवतार सिंह ने आत्महत्या की, उसी में दूसरा थानेदार जोरावर सिंह भी था। एसटीएफ मंगलवार को दोनों को अदालत में पेश कर रिमांड पर लेने की तैयारी कर रही थी।

सूत्रों के अनुसार दोनों थानेदारों के तार अटारी में पकड़ी गई 532 किलो हेरोइन के साथ जुड़े हुए हैं। जानकारी के अनुसार दोनों थानेदार कई साल से सीमावर्ती गांवों में रहने वाले तस्करों के साथ मिल कर नशीले पदार्थों की तस्करी कर रहे थे। थाना घरिंडा इंटरनेशनल बॉर्डर अटारी से मात्र दस किलोमीटर की दूरी पर है।


Follow Us