पूर्व डीजीपी लूथरा समेत 8 के खिलाफ धोखाधड़ी का आरोप

बीबीसीखबर, क्राइमUpdated 08-01-2020
पूर्व

 बीबीसी खबर

सेक्टर-21 के डेंटिस्ट डॉ. मोहित धवन ने सीबीआई के पूर्व स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना और चंडीगढ़ पुलिस के पूर्व डीजीपी तेजिंदर सिंह लूथरा समेत 8 लोगों पर धोखाधड़ी के आरोप लगाए हैं। इन सभी के खिलाफ केस दर्ज किए जाने के लिए डॉ. धवन ने डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में सीआरपीसी 156(3) की एप्लीकेशन फाइल की। एप्लीकेशन पर कोर्ट ने सेक्टर-19 थाना पुलिस काे इंक्वायरी रिपोर्ट सबमिट करने को कहा है।


कोर्ट ने पुलिस से पूछा है कि डॉ. धवन की शिकायत पर पुलिस ने अभी तक क्या कार्रवाई की है? हालांकि कोर्ट ने पिछली तारीख पर भी पुलिस से इंक्वायरी रिपोर्ट मांगी थी और 7 जनवरी को इसे सबमिट करने के लिए कहा था। लेकिन मंगलवार को भी पुलिस ने रिपोर्ट सबमिट नहीं की। अब कोर्ट ने पुलिस को 30 जनवरी तक इंक्वायरी रिपोर्ट देने के लिए कहा है।

डॉ. धवन का आरोप है कि आईपीएस राकेश अस्थाना के इशारे पर तत्कालीन डीजीपी लूथरा ने उनसे 50 लाख रुपए उनकी विदेशी पेशेंट को दिलवाने चाहे। इसके लिए डीएसपी सतीश कुमार और तत्कालीन एसएचओ अश्वनी कुमार ने हर संभव प्रयास किया। उन्हें परेशान किया। कभी घर पर पुलिस भेजी गई तो कभी उन्हें पुलिस हेडक्वार्टर ले जाकर डीजीपी के कमरे में धमकाया गया। डॉ. धवन ने सीबीआई डायरेक्टर को शिकायत दी थी। सीबीआई ने अब इस मामले में एडवाइजर को रिपोर्ट भेजी, जिसके बाद इन अफसरों के खिलाफ विजिलेंस इंक्वायरी शुरू हो गई है।

 

डॉ.धवन ने सीबीआई के पूर्व स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना, पूर्व डीजीपी तेजिंदर सिंह लूथरा, डीएसपी सतीश कुमार, इंस्पेक्टर अश्वनी अत्री, सीबीआई के एसपी रामगोपाल गर्ग और केस के आईओ बलविंदर सिंह पर केस दर्ज किए जाने की मांग की है। डॉ. धवन ने आरोप लगाए कि अस्थाना के इशारे पर उनसे 50 लाख रुपए ऐंठने का प्रयास किया गया और इसमें पुलिस की भूमिका थी। पुलिस ने एक यूएस की महिला के इलाज में लापरवाही के आरोप में केस दर्ज किया। डॉ. धवन ने उस महिला और उसके पति पर भी केस दर्ज किए जाने की मांग की है।

 

Follow Us