श्री राम ने हनुमान जी को बताया सच्चे सेवक का अर्थ

बीबीसीखबर, कानपुरUpdated 06-02-2020
श्री

बीबीसी खबर कानपुर                                                                                                                                         कानपुर  के गौशाला में स्थित साईं मंदिर में हो रही  रघुनाथ की कथा का आज दूसरा दिन था श्री राम कथा युग तुलसी पंडित रामकिंकर महाराज जी के परम प्रिय शिष्य पंडित उमाशंकर व्यास जी  श्री राम कथा का गुणगान कर रहे  हैं| पंडित उमाशंकर व्यास जी ने बताया कि जीवन में जब अनुकूलता होती है तो जो वस्तुएं  सुख देती है वही वस्तुएं जब प्रतिकूलता होती है तब दुख देती हैं |                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                         मानस मर्मज्ञ पंडित उमाशंकर व्यास जी ने बताया  प्रभु को लक्ष्मीनारायण भी कहा जाता है जिसमें लक्ष्मी को तो सभी बुलाते हैं पर नारायण को कौन बुलाता है| विष्णु जी की  प्रिया है लक्ष्मी जी यदि आप लक्ष्मी जी को बुलाना चाहते हैं तो कुमारी लक्ष्मी जी को मत बुलाइए क्योंकि कुमारी लक्ष्मी जी अपने भाई बहन के साथ  आएंगी इसलिए आप विवाहिता लक्ष्मी जी को बुलाइए जो अपने पति के साथ आएंगी यानी कि लक्ष्मी जी नारायण के साथ आएंगे |                                                                                                                                                                                              पंडित उमाशंकर व्यास जी ने बताया कि श्री राम भगवान ने हनुमान को एक सच्चे सेवक का अर्थ बताया श्री राम जी ने हनुमान जी से कहा कि अपने आप को सेवक समझ कर जो सब में मेरा रूप देखकर सब की सेवा सच्चे हृदय से करता है वही सच्चा सेवक होता है|

Follow Us