शराब तस्करी में एसआईटी ने चलाया हंटर, पूर्व विधायक सतविंदर राणा चंडीगढ़ से गिरफ्तार

बीबीसीखबर, करनालUpdated 14-05-2020
शराब

  हरियाणा।

शऱाब तस्करी के मामले में एसआईटी ने कई अहंम खुलासे किए हैं। शराब घोटाले में कार्रवाई करते हुए हरियाणा पुलिस ने पूर्व विधायक सतविंदर को चंडीगढ़ से गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले घोटाले से जुड़े किंगपिन भूपेंद्र को गिरफ्तार किया को गिरफ्तार किया गया था। सूत्रों के अनुसार, पानीपत पुलिस की सीआईए टीम ने देर रात चंडीगढ़ स्थित एमएलए हॉस्टल के ग्राउंड से पूर्व विधायक को गिरफ्तार किया। सीआईए पहले उसे चंडीगढ़ के सेक्टर-3 पुलिस थाने ले गई, उसके बाद पानीपत लेकर गई। सतविंदर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 457/380/406 व 120 बी के तहत मामला दर्ज किया गया है।

सतविंदर सिंह ने जेजेपी की टिकट पर कलायत से पिछला विधानसभा चुनाव लड़ा था। इससे पहले वह राजौंद से दो बार विधायक रह चुके हैं । राजौंद पहले जींद में था और अब कैथल में है। सतविंदर राणा मतदाता के तौर पर हरियाणा के कालका से पंजीकृत हैं। वह कांग्रेस टिकट पर कालका से भी चुनाव लड़ चुके हैं। सतविंदर का पेशा कृषि व व्यवसाय है। ऐसे में अभी तक सबसे रोचक पहलू यह है कि किंगपिन भूपेंद्र का पेशा भी कृषि ही है। उसने सोनीपत में आत्मसमर्पण किया था। उसके ठिकाने से 97 लाख रुपये बरामद हुए थे।

बता दें कि सोनीपत के खरखौदा शराब घोटाले में 28 अप्रैल को समालखा में एफआईआर दर्ज हुई थी। घोटाले के तार पूरे प्रदेश से जुड़े हुए हैं। पुलिस व आबकारी एवं कराधान विभाग के अधिकारियों ने शराब माफिया के साथ मिलकर घोटाले को लॉकडाउन में अंजाम दिया है। करोड़ों रुपये की शराब माफिया ने लॉकडाउन में बेची है। मनोहर लाल सरकार घोटाले की तह तक जाने के वरिष्ठ आईएएस टीसी गुप्ता की अध्यक्षता में एसआईटी गठित कर चुकी है। 31 मई तक एसआईटी अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपेगी। इस घोटाले में बड़े रसूखदारों के बेनकाब होने की संभावना है।

 

Follow Us