अब बिना लक्षण और हलके लक्षण वाले मरीजों को सशर्त मिलेगी होम आइसोलेशन की सुविधा

बीबीसीखबर, बांदाUpdated 24-07-2020
अब

 शिवम सिंह

बाँदा । कोविड-19 के लगातार बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुये अब लक्षण विहीन और हलके लक्षण वाले कोरोना मरीजों को होम आइसोलेशन की सुविधा मिल सकेगी। हाल ही में शासन ने इसके लिए सशर्त दिशा-निर्देश जारी किए हैं। होम आइसोलेशन की यह सुविधा केवल उन्हीं पर लागू होगी जिनकी रिपोर्ट 20 जुलाई यानि सोमवार या उसके बाद आई हो। नई गाइडलाइन के अनुसार बुधवार को राजकीय मेडिकल कॉलेज बाँदा से 27 लक्षण विहीन मरीजों को सशर्त होम आइसोलेशन में रहने की अनुमति से साथ डिस्चार्ज कर दिया गया है। साथ ही इन सभी से सहमति पत्र भी भरवाया गया।

 

राजकीय मेडिकल कॉलेज बाँदा के प्रधानाचार्य डॉ. मुकेश यादव ने जानकारी दी कि नई डिस्चार्ज पालिसी के अनुसार अस्पताल में भर्ती हलके लक्षण वाले मरीजों और घर पर आइसोलेशन में रखे गए लक्षण विहीन रोगियों के लिए कई तरह के नियम बनाए गए हैं। कोविड फैसिलिटी में भर्ती हलके लक्षण वाले मरीज़ को प्रारंभिक जांच के दसवें दिन, या लक्षण प्रदर्शित होने के दसवें दिन या निरंतर बिना बुखार तीन दिन, जो तिथि सबसे बाद में आए, उस तिथि से 7 दिन घर पर होम आइसोलेशन की सलाह के साथ डिस्चार्ज किया जाएगा। इसी के मद्देनज़र प्रथम चरण में बुधवार को 27 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है।

 

उन्होंने बताया कि नई पालिसी के मुताबिक 20 जुलाई के बाद मिले संक्रमित लक्षण विहीन मरीजों को अब मेडिकल कॉलेज में भर्ती करने की ज़रूरत नहीं होगी। उन्हें चिकित्सक द्वारा चिन्हित करने के बाद एल-1 इकाई या होम आइसोलेशन में रखा जाएगा। इसके लिए भी विशेष नियम हैं। रोगी के निवास स्थान पर स्वयं को आइसोलेट एवं परिजनों को क्वॉरेंटाइन करने की सुविधा हो। कम से कम दो शौचालय हो। 24 घंटे रोगी की देखरेख के लिए एक व्यक्ति उपलब्ध हो। स्वास्थ्य विभाग द्वारा विकसित किए गए आइसोलेशन ऐप को मरीज अपने स्मार्टफोन पर डाउनलोड करना होगा। रोगी को अपने स्वास्थ्य के नियमित अनुश्रवण के दायित्व को स्वीकार करना होगा। इसके लिए उसे एक सहमति पत्र भरना पड़ेगा और प्रतिदिन दिन में तीन बार अपने स्वास्थ्य की जानकारी स्वास्थ्य विभाग को देनी पड़ेगी। आइसोलेशन में रहने वाले लक्षण विहीन कोविड-19 मरीजों को एक किट अपने पास रखनी होगी जिसमें पल्स ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर, मास्क, ग्लब्स, सोडियम हाइपोक्लोराइट सलूशन एवं प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली वस्तुएं शामिल होंगी। उन्होने बताया कि होम आइसोलेशन में रहने वाले रोगियों का होम आइसोलेशन कोविड पॉज़िटिव होने के 10 दिनों पश्चात तथा पिछले तीन दिनों में बुखार न आने की स्थिति में समाप्त माना जाएगा। इसके पश्चात अगले सात दिनों तक रोगी घर पर ही रह कर अपने स्वास्थ्य का अनुश्रवण करेंगे। होम आइसोलेशन की समाप्ति पर टेस्टिंग की आवश्यकता नहीं होगी।

 

उन्होंने बताया कि ऐसे रोगी जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है या वह किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं उन्हें होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं दी जाएगी। 

 

वर्तमान में 216 मरीज़ भर्ती

वाइस प्रिंसिपल डॉ. एस के कौशल ने बताया कि इस समय मेडिकल कॉलेज में कुल 216 मरीज़ भर्ती हैं और सभी की हालत सामान्य है। 37 मरीजों को पूरी तरह स्वस्थ होने के बाद 7 दिन के लिए होम आइसोलेशन की सलाह देकर घर भेज दिया गया है वहीँ 27 अन्य को नई डिस्चार्ज पालिसी के अनुसार डिस्चार्ज किया गया है। सभी डिस्चार्ज किये गए मरीजों को सलाह दी जाती है कि वे लोगों से दूरी बनाकर रखें, बार-बार साबुन से हाथ धोएं, मास्क लगाएं एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखें। अगर कोई परेशानी जैसे- बुखार, खांसी, सांस फूलना आदि हो तो तुरंत अस्पताल से संपर्क करें।

Follow Us