बलिया में एसडीएम और सीओ के सामने खुली बैठक में गोली मारकर युवक की हत्या

बीबीसीखबर, क्राइमUpdated 15-10-2020
बलिया

 बीबीसी खबर

बलिया जिले के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव के पंचायत भवन में गुरुवार को दोपहर बाद साढ़े तीन बजे कोटे की दुकान के चयन के लिए खुली बैठक में मतदान को लेकर एसडीएम और सीओ के सामने एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस दौरान ईंट-पत्थर और लाठी-डंडे भी चले। इसमें छह लोग घायल हो गए। घटना पर संज्ञान लेते हुए योगी सरकार ने सभी तीनों  अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया और आरोपी भाजपा कार्यकर्ता के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

 

पंचायत भवन के बाहर टेंट लगाकर हनुमानगंज और दुर्जनपुर गांव की कोटे की दुकानों के चयन के लिए दोपहर बाद लगभग साढ़े तीन बजे खुली बैठक की जा रही थी। दुकानों के लिए चार महिला समूहों ने आवेदन किया था। दुर्जनपुर की दुकान के लिए मां शायर जगदंबा और शिव शक्ति स्वयं सहायता समूह के बीच मतदान की नौबत आ गई।

इस पर एसडीएम सुरेश कुमार पाल और सीओ चंद्रकेश सिंह ने व्यवस्था बनाई कि जिसके पास आधार कार्ड अथवा अन्य कोई पहचान पत्र होगा, वही वोट कर पाएगा। एक पक्ष के लोग आधार कार्ड लेकर आए थे, जबकि दूसरे पक्ष के लोगों के पास पहचान पत्र नहीं था। इसी बात पर हंगामा हो गया। स्थिति बिगड़ते देख बीडीओ बैरिया गजेंद्र प्रताप सिंह ने बैठक की कार्यवाही स्थगित कर दी।

इसके बाद दोनों पक्षों में तनातनी शुरू हो गई। फिर प्रशासन के विरोध में नारेबाजी हुई। देखते ही देखते ईंट-पत्थर चलने लगे और एक पक्ष से फायरिंग शुरू हो गई। इसमें दुर्जनपुर निवासी जयप्रकाश पाल (45) को चार गोलियां लगीं। लोगों ने उसे सीएचसी सोनबरसा पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

 

इसके अलावा ईंट पत्थर और  लाठी-डंडे से नरेंद्र सिंह (45), आराधना सिंह (45), आशा सिंह (40), राजेंद्र सिंह (45), अजय सिंह (50) और धर्मेंद्र सिंह (40) गंभीर रूप से घायल हो गए। क्षेत्राधिकारी चंद्रकेश सिंह के नेतृत्व में बैरिया, रेवती आदि थानों की पुलिस गांव में तैनात कर दी गई है। पुलिस अधीक्षक देवेंद्रनाथ दुबे ने भी मौका मुआयना किया और घटना की जानकारी ली। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। 

दुर्जनपुर पंचायत भवन पर बिना आधार कार्ड के पहुंचे लोग दुकान आवंटन के लिए वोटिंग करना चाहते थे। इससे विवाद बढ़ गया। एक समूह के पक्षकार धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ डब्लू सिंह ने गोली चला दी। इसमें जयप्रकाश उर्फ गामा पाल को गोली लगी और अस्पताल जाते समय उनकी मौत हो गई। एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

देवेंद्र नाथ, पुलिस अधीक्षक।

 

8 नामजद व 25 अज्ञात के खिलाफ दी तहरीर

बैठक के दौरान हुई मारपीट व गोली लगने से मृत जयप्रकाश के भाई चंद्रमा पाल ने 8 नामजद और 25 अज्ञात लोगों के विरुद्ध थाने में तहरीर दी है। एसएचओ प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश तेज कर दी गई है। पुलिस ने बताया कि दूसरे पक्ष की ओर से कोई तहरीर नहीं मिली है।

प्रदेश सरकार ने एसडीएम और सीओ को किया निलंबित

 

Follow Us