शिक्षक की पत्नी की चाकुओं से गोदकर हत्या

बीबीसीखबर, कानपुरUpdated 30-01-2021
शिक्षक

 बीबीसी खबर

कानपुर में बिधनू थाना क्षेत्र के गोपाल नगर में चाकुओं से गोदकर मारी गई मधु शुक्ला के शरीर पर तीन दर्जन से भी ज्यादा घाव मिले हैं। इससे तो यही अंदेशा जताया जा रहा कि हत्या इत्तेफाक नहीं है, बल्कि दोनों युवक हत्या के इरादे से ही मधु के घर में घुसे थे।

 

हालांकि पुलिस अपनी जांच दो बिंदुओं पर आगे बढ़ा रही है। एक तो घर में घुसे बदमाशों द्वारा की जा रही लूटपाट का विरोध करने और जमीन को लेकर चले आ रहे पारिवारिक विवाद में हत्या की आशंका है। मधु के शव के हुए पोस्टमार्टम में कमर, पेट, छाती और हाथों में तीन दर्जन से अधिक घाव मिले हैं।

इससे यह साबित होता है कि हत्यारे तब तक उन पर हमला करते रहे, जब तब उनकी जान नहीं चली गई। उनका गला भी रेतने का प्रयास किया गया। इस तरह की नृशंस हत्या तभी होती है जब हमला करने वाला हत्या के इरादे से ही पहुंचा हो। 

 

प्लाट को लेकर महिला का भाई से चल रहा था विवाद

थाना प्रभारी विनोद कुमार ने बताया कि मधु घर पर अकेली थी। आशंका है कि बदमाश लूट के इरादे से घर में घुसे होंगे। इसी बीच श्रवण दूध लेकर लौट आए और आवाजें लगाने लगे। इससे घबराकर बदमाशों ने मधु की हत्या कर दी। वहीं, परिजनों से पूछताछ में यह भी पता चला है कि मधु का एक भाई भी है।

 

मधु की जब शादी हुई तो श्रवण के पास रहने के लिए कोई जगह नहीं थी। इस पर मधु के चकेरी गिरजानगर निवासी पिता जयप्रकाश दीक्षित ने 30 साल पहले गोपाल नगर वाले प्लाट की वसीयत मधु के नाम कर दी थी। उस वक्त यहां जंगल था लेकिन अब प्लाट की कीमत लाखों में है। पुलिस को पता चला है कि मधु का भाई श्रवण से प्लाट के बदले पैसों की मांग कर रहा था। इसको लेकर भी विवाद चल रहा था। थाना प्रभारी के अनुसार श्रवण कुमार की तहरीर पर अज्ञात में हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गई है।

 

रेकी कर की गई हत्या

श्रवण कुमार ने बताया कि वे प्राइवेट स्कूल और कोचिंग में पढ़ाते थे। लॉकडाउन से घर पर ही हैं। बाहर बहुत कम निकलते थे। सुबह रोजाना दूध लेने जरूर जाते थे। पुलिस को आशंका है कि हत्यारों ने रेकी की और इसी समय को वारदात के लिए चुना। 

एक महीने से बंद पड़े थे घर पर लगे कैमरे

श्रवण कुमार ने बताया कि उनके बेटे ने घर के मेन दरवाजे, बरामदे में दो सीसीटीवी कैमरे लगवाए थे। कैमरों की शॉकेट की वजह से टीवी चलने में परेशानी होती थी। इस कारण उन्होंने करीब एक माह पूर्व कैमरों को बंद कर दिया था। 

 

जान बचाने के लिए मधु ने किया था संघर्ष

कमरे में पहुंची पुलिस को मधु के शव के पास तकिया, टूटी चूड़ियां, शॉल व झाड़ू पड़ी मिली। सोफे, तकिया व फर्श पर चारों तरफ खून के निशान थे। अनुमान है कि मधु ने बदमाशोें से संघर्ष भी किया। पति के दरवाजा खटखटाने पर शोर मचाने का प्रयास किया तो हत्यारों ने तकिया से मुंह दबा दिया। बदमाशों ने उनका गला रेतने के साथ ही शरीर पर भी चाकू से आधा दर्जन वार किए।

बुआ व मोहल्ले के युवक ने हत्याओं को भागते देखा 

श्रवण कुमार ने बताया कि उनकी पत्नी शुगर की मरीज हैं। अक्सर बेहोश हो जाती हैं। उन्हें लगा कि इस बार भी शायद वे बेहोश हो गईं। इसके चलते उन्होंने कुछ दूरी पर रहने वाली बुआ रमा त्रिवेदी को बुला लिया। रमा ने बताया कि श्रवण के पीछे वाली गली में जाते ही दो युवक दरवाजा खोलकर मेन रोड की ओर भाग निकले। मोहल्ले के भानु प्रताप ने पीछा भी किया, लेकिन वे हाथ नहीं आए। 

 

कमरे के अंदर से आ रही थीं रोने की आवाजें

श्रवण कुमार ने बताया कि जब वह दरवाजे पर खड़े होकर पत्नी को आवाज दे रहे थे, तो उनके रोने की हल्की-हल्की आवाज आ रही थी। पुलिस को आशंका है कि श्रवण के लौटने के बाद भी मधु जीवित थी। पुलिस को मधु की लाश के पास से खून से सना तकिया मिला है। आशंका है कि आवाज दबाने के लिए हत्यारों ने तकिया से मधु का मुंह दबाया। 

100 मीटर घूमकर लौटा खोजी कुत्ता

स्थानीय लोेगों ने बताया कि खोजी कुत्ता शव के पास से घर के बाहर आया। घर के सामने एक टिफिन पड़ा था। टिफिन को सूंघने के बाद मेन रोड से होते हुए 100 मीटर तक बदमाशों के भागने की विपरीत दिशा में गया। इसके बाद लौट आया। पुलिस ने टिफिन को कब्जे में लिया है।

 

Follow Us