गृहमंत्रालय का आदेश- 31 जनवरी तक दिल्ली की सभी सीमाओं पर बंद रहेगा इंटरनेट

बीबीसीखबर, दिल्लीUpdated 30-01-2021
गृहमंत्रालय

 बीबीसी खबर

26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के बाद खत्म होते दिख रहे आंदोलन को भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के आंसूओं ने जैसे संजीवनी दे दी। पिछले 66 दिनों से चल रहा जो आंदोलन 28 नवंबर को गाजीपुर बॉर्डर से शाम तक खत्म जैसा दिख रहा था वह टिकैत के आंसुओं का वीडियो वायरल होते भी फिर तेज हो गया और 29 जनवरी की सुबह गाजीपुर बॉर्डर हाल वैसा दिखने लगा जैसे वो 26 तारीख से पहले था। यही नहीं अब की लोगों में जोश भी दोगुना है और वो कृषि कानूनोें को वापस कराकर ही घर जाने की बात कर रहे हैं। वहीं सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर भी आंदोलन जारी है। वहीं आज आंदोलन कर रहे किसान 26 जनवरी की हिंसा पर दुख जताते हुए और महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में एक दिन के अनशन पर रहेंगे। किसान आज के दिन को सद्भावना दिवस के रूप में मना रहे हैं। 

सिंघु बॉर्डरः एनएच-1 पर पुलिस खोद रही गहरी खाइयां

 

26 जनवरी के दिन जिस तरह से ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा हुई उसकी पुनरावृत्ति रोकने के लिए दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजमार्ग-1 पर खोदाई शुरू कर दी है। यह खाई सिंघु बॉर्डर पर इसलिए की जा रही है क्योंकि अगर कोई ट्रैक्टर लेकर दिल्ली की सीमा में प्रवेश भी करना चाहे तो ट्रैक्टर खाई में गिरकर फंस जाए।

 

NH-24 गाजीपुर बॉर्डर आने और जाने वाले मार्ग बंद

एनएच-24 के जरिए गाजीपुर बॉर्डर आने जाने वाले दोनों मार्ग बंद कर दिए गए हैं। 

गाजीपुर बॉर्डर पर धरना स्थल के आसपास 500 मीटर तक इंटरनेट सेवा बंद

गाजीपुर बॉर्डर पर लगातार बढ़ रही किसानों की संख्या

राकेश टिकैत के आंसूओं वाला वीडियो वायरल होने के बाद से ही लगातार यूपी, हरियाणा और उत्तराखंड के किसानों का गाजीपुर बॉर्डर आने का सिलसिला जारी है।

 

गाजीपुर बॉर्डर पर 29 जनवरी से बढ़ रही भीड़ के बाद अब धरनास्थल से 500 मीटर की दूरी तक इंटरनेट सेवा पूरी तरह बंद कर दी गई है। यह फैसला इसलिए लिया गया है ताकि किसी तरह की कोई अप्रिय घटना न हो।

 

कल दिल्ली कूच करेंगे बागपत से किसान

भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने आज कहा कि, कल बागपत में पंचायत करने के बाद हम दिल्ली कूच करेंगे। किसानों पर जो राजनीति हो रही है उस पर पंचायत में चर्चा करेंगे। गौरतलब है कि, कृषि कानूनों के खिलाफ गाजीपुर बाॅर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 64वें दिन भी जारी है।

 

सिंघु बॉर्डर पर बढ़ाई सुरक्षा

सिंघु बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं। कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर पर किसानों का विरोध-प्रदर्शन जारी है। सुरक्षा व्यवस्था इसलिए भी चौकस की गई है कि बीते दो दिनों से कुछ स्थानीय लोग यहां आकर किसानों से सड़क खाली करने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। शुक्रवार को तो यहां हिंसक झड़प भी हो गई थी जिसके बाद पुलिस ने 44 लोगों को गिरफ्तार किया।

 

Follow Us